Tag: Parvin Shakir

Posted in પદ્ય સાહિત્ય

કાવ્યાનુવાદ : क़ैद में गुज़रेगी जो उम्र – કપાઈ જેલમાં જે જિંદગી બહુ કામની હતી

क़ैद में गुज़रेगी जो उम्र परवीन शाकिर क़ैद में गुज़रेगी जो उम्र बड़े काम की थी पर मैं क्या करती कि ज़ंजीर तिरे नाम की…

આગળ વાંચો